कैसे बचे दो परमाणु अटैक से जापान के Yamaguchi

PARAMNU BISFOTE

Japan के परमाणु घटना के समय आप जानकर बहुत हैरान होंगे की ऐसा कैसे हो सकता है । मगर ऐसा ही हुआ है । एक शख्स जो की दो परमाणु बिस्फोट के बाद भी नहीं मरा आइये जानते ऐसा कौन सा शख्श है । जो की दो परमाणु हमला के बाद भी नहीं मरा है ।

जापान के हिरोशिमा और नागासाकी के दो परमाणु बिस्फोट के दौरान जापान के रहने वाले एक शख्श सुतोमु यामागुची एक ऐसा नाम जो की द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान किये गए परमाणु हमले में बच गए थे । इतना ही नहीं  मरते वक़्त उनकी आयु 93 साल थी तब तक वह जीवित रहे । अंततः 4 जनवरी 2010 को कैंसर के वजह से उनकी मृत्यु हो गई ।

दो परमाणु से लड़े सुतोमु यामागुची

सुतोमु यामागुची ने बताया और जापान ने प्रमाणित भी  किया है कि 93 वर्षीय सुतोमु यामागुची इन दोनों हमलों के दौरान हिरोशिमा और नागासाकी में थे.
अमरीकी विमानों ने छह अगस्त 1945 के दिन हिरोशिमा पर पहला परमाणु बम गिराया था और इस दौरान यामागुची अपने व्यवसाय के सिलसिले में हिरोशिमा में थे.बम हमले में यामागुची का शरीर कई स्थानों पर जल गया.

उन्होंने एक रात हिरोशिमा में बिताई और फिर वो अपने शहर नागासाकी लौट आए जिस पर नौ अगस्त को दूसरा परमाणु बम गिराया गया. और वो वहां पर भी किसी तरह बच गए । फिर उन्होंने बताया की मेरे सामने हुआ परमाणु बिस्फोट के बारे में मै अपने दो पीढ़ियों को खुद ही बताऊंगा ।अंततः 4 जनवरी 2010 को कैंसर के वजह से उनकी मृत्यु हो गई । उस समय वो 93 साल के थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top