15 रुपये रोज पर जिस कंपनी में करते थे काम , कैसे बने उसी कंपनी के मालिक सुदीप दत्ता.

Ess Dee Aluminium LTD ये कंपनी का नाम तो लगभग में सभी लोग जान रहे ही होंगे । ये एल्युमीनियम की उद्योग पे काम करती है ।aiye आपको बता दे की इस कंपनी के  फाउंडर सुदीप दत्ता. जो एक समय इस कंपनी में मजदूरी का काम करते थे और रोज के 15 रूपये ही पाते थे. रोज 15 रूपये की मजदूरी करने वाले सुदीप दत्ता आज 1600 करोड़ से ज्यादा की वैल्यू रखने वाली कंपनी के मालिक है. और वह किस प्रकार से ये मुकाम हाशिल किये ।

साल 1972 में पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर के छोटे से गांव में सुदीप दत्ता का जन्म हुआ. उनके बचपन में ही सेना में तैनात उनके पिता को गोली लग गई, जिससे उनको लकवा मार गया था. जानिए कैसे उसके बाद सुदीप दत्ता ने अपने कठिन परिश्रम और लगन से अपने सपने को पूरा किया.

Ess

उन्होंने सन 1988 में सुदीप दत्ता काम ढूढने के बहाने से मुंबई गए और वहां जाके Ess Dee Aluminium LTD  इस कंपनी में मजदूरी करने लगे इस समय उनकी पुरे दिन की मजदूरी  15 रुपये मिलती थी । ये अपना किसी तरह से काम करते करते इसके बिज़नेस के बारे में भी जानने लगे और एक दिन ऐसा हुवा की इनकी कंपनी को भारी नुकसान के वजह से इसका मालिक इस कंपनी को बेचने लगा और उस समय सुदीप दत्ता के पास मात्र 16000 रुपये थे । मगर उसका मालिक इतना परेशान हो गया था इस कंपनी से की वह उतने ही पैसे में राजी हो गया मगर इनके सामने दो शर्ते रखी।

पहली शर्त यह थी की पुरे दो शाल का फायदा सुदीप कंपनी के मालिक को देदे  और दूसरी पूरा जीवन भर के फायदे का शेयर दे तो उस समय वो  पहला शर्त मन गए और

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top