कहानी एक ऐसे प्रिंस की जिसने एक वक़्त पहले अपनी माँ को बंदी बना लिया था

prins

दोस्तों सऊदी अरब एक ऐसा इस्लामिक देश है जो हमेशा किसी न किसी बात के लिए सुर्खियों में बना रहता है। जब बात सऊदी अरब की आती है तो लोगों के दिलों में वहां के सख्त कानून की याद भी आ जाती है, जिसमे सबसे पहले ख्याल आता है या याद आती है लोगों से कहते सुना होगा कि अगर सऊदी अरब में कोई चोरी करता पकड़ा गया तो उसका हाथ काट दिया जाएगा, इस बात का खौफ दूर दूर तक फैला हुआ है।

इसी बीच यह देश एक बार फ़िर चर्चा में हैं। इस बार सऊदी अरब का चर्चा में बनने का कारण यह है कि अब यहाँ के नागरिक पाकिस्तान, बांग्लादेश, चाड और म्यांमार की औरतों से आसानी से शादी नहीं कर सकेंगे और अगर इस देश के लोग इन देशों की औरतों से शादी करना चाहते हैं तो उन्हें पहले सरकार से सहमति लेनी होगी। बता दें कि इस विषय मे अभी तक आधिकारिक रूप से कोई बयान जारी नहीं हुआ है, लेकिन इस बात की चर्चा जोरों पर है कि अपने देश की महिलाओं के संग किसी बात की नाइंसाफी न हो इसलिए प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने ऐसे कानून बनाये हैं। Only death': How Mohammed bin Salman has torn up the rules of kingship |  Middle East Eye édition française

मालूम हो कि सऊदी अरब एक ऐसा इस्लामिक देश है। जहाँ बीते कुछ समय पहले तक महिलाओं के अधिकारों की बात न के बराबर उठाई जाती थी, लेकिन अब धीरे-धीरे माहौल बदल रहा है। बता दें कि जबसे सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान बने हैं तभी से इस देश मे महिला अधिकारों को तवज्जों मिलनी शुरू हुई है। ऐसा मानते हैं कि क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान की छवि एक ऐसे प्रिंस के रूप में है। जो महिलाओं के हक में बात करते हैं। ऐसे में बता दें कि भले क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान महिला अधिकारों की बात करते हो, लेकिन यह वही शख़्स है जिसने एक बार अपनी मां को ही बन्दी बना लिया था।

आपको बता दें कि प्रिंस द्वारा अपनी माँ को ही बंदी बना लेने की कहानी भी किसी रोचक से कम नहीं है, महिलाओं के अधिकारों की बात करने वाले प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान खुद ऐसा कर चुके हैं।
दरअसल एक बार प्रिंस ने गुस्से में आकर अपनी माँ को ही बंदी बना के काफी लंबे समय तक नज़रबंद करवा दिया था,
जानकारी के लिए बता दें कि इसका खुलासा सऊदी अरब में लंबे समय तक काम करने वाले अमेरिकी पत्रकार और लेखक “बेन हबर्ड” ने अपनी किताब “एमबीएस: द राइज टू पावर” में किया। इसके अलावा बेन हबर्ड ने कई अन्य राज भी सऊदी प्रिंस से जुड़े इस क़िताब में बताया है।

उस क़िताब में बेन हबर्ड ने कई साक्षात्कारों के आधार पर प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान की मां, पत्नी और जिंदगी में रहती अन्य महिलाओं के बारे खुलकर बातें रखी है। कई मीडिया रिपोर्ट्स में ये बात सामने आई थी कि प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने अपनी मां को बंदी बनाकर कहीं छिपाकर रखा है। इस रिपोर्ट को प्रकाशित करने वालों में ABC News और टेलीग्राफ भी शामिल था। रिपोर्ट्स के मुताबिक, साल 2016 के आसपास प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने अपनी मां को ऐसी जगह छिपा दिया था कि उनका पता नहीं चले। यहां तक कि किंग भी उनसे नहीं मिल सकें। किंग को लंबे समय तक नहीं पता चला कि इसके पीछे उनके बेटे का ही हाथ है। टेलीग्राफ के मुताबिक, अमेरिकी खुफिया विभाग के 18 अफसरों ने इसकी पुष्टि की थी। इसके बाद कहा ये गया कि मां महल के ही खुफिया तहखाने में थीं।

बता दें कि सऊदी प्रिंस भले महिला अधिकारों के हिमायती हो, लेकिन उनका स्वभाव काफ़ी गुस्सैल प्रवृत्ति का है। उन्होंने अपनी मां को बंदी इसलिए बनाया था कि वह उनकी सत्ता तक पहुँचने की राह में रोड़े न अटकाए। प्रिंस को लगता था कि उनकी मां, पिता से मिलकर उनके अधिकारों में कटौती करा सकती। बस क्या था प्रिंस ने अपनी मां को ही नजरबंद करने का फ़ैसला कर लिया।

वहीं बता दें कि गल्फ इंस्टीट्यूट नाम की एक वेबसाइट ने तो प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के गुस्सैल रवैये और उनकी बेगम को लेकर भी बहुत कुछ लिखा है। इसके लिए इस वेबसाइट ने सऊदी रॉयल फैमिली के साथ बॉडीगार्ड के रूप में काम कर चुके मार्क यंग का सहारा लिया। मार्क यंग सऊदी अरब की रॉयल फैमिली की खिदमत में 15 साल बिताए थे। इसके बाद वो इंग्लैंड चले गए। मार्क यंग ने रॉयल फैमिली के साथ अपने अनुभवों को लेकर सऊदी बॉडीगार्ड के नाम से एक किताब भी लिखी, जिसे ऑनलाइन ख़रीद कर सऊदी अरब के प्रिंस और उनके परिवार से जुड़ी जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

आपको जानकारी के लिए बता दें कि सऊदी अरब उन देशों में शामिल है जहां राजतंत्र है। यहां शाही परिवार जिसे “हाउस ऑफ अल सौद” कहा जाता है उनका ही शासन चलता है। प्रिंस सलमान इस परिवार की तीसरी पीढ़ी से तालुक रखते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top