आपके स्मार्टफोन का स्क्रीन गार्ड ही आपके लिए बन सकता है आपके परेशानी का कारण……..

mobile

आज हम सभी अपने स्मार्टफोन पर स्क्रीन गार्ड लगाते हैं और लगवाने के बाद हम यह सोच कर निश्चिंत हो जाते हैं कि हमारा फोन स्क्रीन सुरक्षित हो गया है लेकिन यह बात गलत है स्क्रीन गार्ड का इस्तेमाल हम सभी के मोबाइल फोन के लिए काफी ही खतरनाक साबित हो सकता है।
अगर आप अपने स्मार्टफोन के स्क्रीन के लिए थर्ड पार्टी स्क्रीन प्रोटेक्टर का इस्तेमाल करते हैं तो यह स्मार्टफोन के लिए और भी ज्यादा नुकसानदायक है।

कसान की वजह

एक रिपोर्ट की मानें तो मॉडल स्मार्टफोन के डिस्प्ले के नीचे दो सेंसर Ambient Light सेंसर और Proximity सेंसर लगे होते है।यह सेंसर इतने सूक्ष्म होते हैं कि आपको दिखाई नहीं देते हैं।

यह स्मार्ट फोन के स्क्रीन की लाइट साइड रिसीवर के पास होता है जब जब आप अपने स्मार्टफोन के स्क्रीन पर गार्ड लगवा लेते हैं तो वह सेंसर ब्लॉक हो जाता है और वह अपना काम करना बंद कर देता है यानी आपका स्मार्टफोन नॉन रिएक्टिव मूड में हो जाता है।

नेटवर्क परेशानी

जिसके कारण नेटवर्क अच्छे से नहीं मिल पाता और आपके मोबाइल पर कॉल आना बंद हो जाता है साथ ही साथ स्क्रीन गार्ड के इस्तेमाल से कई बार डिस्पले फिंगरप्रिंट स्कैनर भी नहीं कर पाते हैं। जिसकी वजह से आप काफी परेशान रहते हैं और आपको लगता है कि आपके सिम का नेटवर्क ठीक नहीं है लेकिन ऐसा नहीं रहता है।

स्क्रीन गार्ड की वजह से होने वाली परेशानी से कैसे बचे

अगर संभव हो सके तो आप अपने स्मार्टफोन पर स्क्रीन गार्ड ना लगवाए लेकिन अगर ऐसा नहीं हो पाता है तो आप ब्रांडेड स्क्रीन प्रोटेक्टर का ही इस्तेमाल करें। आपका स्मार्टफोन जिस कंपनी का है आप उसी कंपनी का स्क्रीन प्रोटेक्टर ही लगाएं क्योंकि उस कंपनी को पता होता है कि स्मार्टफोन में सेंसर को किस जगह पर लगाया गया है और वह उसी के हिसाब से स्क्रीन प्रोटेक्टर का निर्माण करते हैं।

आप कुछ पैसों की बचत के लिए अपने मोबाइल को नुकसान पहुंचाते हैं जिसकी वजह से आप भी काफी परेशान रहते हैं तो आज ही बदल डाले अपने स्मार्टफोन के स्क्रीन प्रोटेक्टर को जाए निश्चिंत।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top