नीरव मोदी और विजय माल्या को जल्द भारत लाया जाएगा, अब ब्रिटेन ने भी सहयोग का दिया भरोसा

viajy m

ब्रिटेन ने कहा है कि वह नीरव मोदी और विजय माल्या जैसे आर्थिक अपराधियों को जल्द से जल्द भारत को सौंपेगा। ब्रिटेन ने भरोसा दिलाया है कि वह इनके जल्द प्रत्यर्पण के लिए भारत सरकार का सहयोग करेंगे। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने यहां एक वचुर्अल संवाददाता सम्मेलन में कहा कि ब्रिटेन की गृह मंत्री ने 15 अप्रैल को नीरव मोदी के प्रत्यर्पण का आदेश दिया था। अब नीरव मोदी इसके विरुद्ध अपील कर रहा है लेकिन वह हिरासत में ही है। उन्होंने कहा कि हम उनका (आर्थिक अपराधियों) शीघ्रातिशीघ्र प्रत्यर्पण सुनिश्चित करेंगे। Nirav Modi's appeal against extradition awaits UK High Court judge decision  | India News,The Indian Express

विजय माल्या के बारे में पूछे जाने पर प्रवक्ता ने कहा कि सभी आर्थिक अपराधियों के प्रत्यर्पण के मुद्दे पर चार मई को भारत ब्रिटेन शिखर बैठक में चर्चा हुई थी। ब्रिटेन ने कहा है कि देश में अपराध न्याय प्रणाली की प्रकृति के कारण कुछ बाधाएं आईं हैं लेकिन वे इस मुद्दे को समझते हैं और ऐसे अपराधियों के शीघ्रातिशीघ्र प्रत्यर्पण सुनिश्चित करने के लिए पूरा सहयोग करेंगे।

Nobody can save Vijay Mallya, Nirav Modi now | News24
मेहुल चोकसी का मामला लंदन पहुंचा
मेहुल चोकसी की एंटीगुआ से डोमेनिका पहुंचने का कानूनी विवाद अब लंदन पहुंच गया है। लंदन में चोकसी के वकीलों ने जहां मेट्रोपोलिटन पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराई है। वहीं मेहुल चोकसी की कथित गर्लफ्रेंड समेत चार लोगों के खिलाफ जांच की अपील की है। मेहुल के वकील माइकल पोलॉक ने बताया कि मोट्रोपोलिटन पुलिस की अंतरराष्ट्रीय अपराध शाखा उनकी शिकायत की जांच कर रही है। पोलॉक ने कहा कि एक सोची-समझी योजना के तहत मेहुल को बलपूर्वक एंटीगुआ से ले जाया गया, जहां उसके पास अपने खिलाफ किसी भी फैसले को प्रिवी काउंसिल तक ले जाने का अधिकार है, जबकि डोमेनिका में चोकसी के पास यह अधिकार नहीं है।

PNB घोटाले (PNB Scam) में भगोड़ा हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) की मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं. डोमिनिका हाईकोर्ट ने मेहुल चोकसी को जमानत देने से इनकार कर दिया है. हाईकोर्ट ने मेहुल चोकसी को फ्लाइट रिस्‍क होने की वजह से जमानत देने से इनकार कर दिया है. ‘फ्लाइट रिस्क’ का मतलब ऐसे व्यक्ति से है, जिसके देश छोड़ने की आशंका होती है. हालांकि मेहुल चोकसी के वकीलों ने उनके ज़मानत के लिए चोकसी तबियत खराब होने की बात कोर्ट को बताई है लेकिन विपक्ष वकीलों ने ये कह के विरोध किया कि इनका फ्लाइट रिस्क है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top