कौन है यह महिला जिन्हें भावुक होता देख ज्योतिरादित्य सिंधिया भी भावुक हो गए और उन्हें गले लगा लिए-

vnccv

तमाम अफवाहों और संघर्षों के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया को आखिरकार सरकार के मंत्रिमंडल में अहम स्थान मिला। ज्योतिरादित्य को भाजपा में आए पूरे 15 महीने हो चुके हैं और 15 महीने के बाद उन्हें मोदी सरकार के कैबिनेट में जगह मिली।

ज्योतिरादित्य एक समय कांग्रेस के कट्टर नेता हुआ करते थे और कांग्रेस में बार-बार उपेक्षा का शिकार होने के बाद आखिरकार उन्होंने कांग्रेस छोड़कर बीजेपी ज्वाइन किया। इसके बाद लगातार यह अटकलें लगाई जाती थी कि भाजपा में सिंधिया को उनकी योग्यतानुसार स्थान मिलेगा या नहीं।लेकिन इस सवाल का जवाब पूरे 15 महीने के बाद मिला ज्योतिरादित्य सिंधिया को मंत्रिमंडल में स्थान दिया गया। उन्हें नागरिक उड्डयन मंत्री का पदभार संभालने को मिला है।उनको यह पदभार मिलने पर सिंधिया के खेमे के सभी मंत्री काफी खुश हैं और उन्हें बधाई दे रहे हैं। इसी में मध्य प्रदेश सरकार की पूर्व मंत्री इमरती देवी ने सिंधिया को बधाई देने के लिए दिल्ली पहुंची और वह वहां सिंधिया से मिलने के दौरान काफी भावुक हो गए और रो पड़ी।उनको इस तरह भावुक होता देखकर ज्योतिरादित्य सिंधिया भी अपने आप को रोक नहीं पाए और वह खड़े होकर इमरती देवी को गले लगा लिया।

इमरती देवी सिंधिया खेमे की एक मजबूत नेता है। वह पूर्व सरकार कमलनाथ के समय में भी मंत्री रह चुकी हैं। इमरती देवी ने नागरिक उड्डयन मंत्री बनने पर सिंधिया को बधाई दी और कहा महाराज साहब को मंत्री बनते देख मैं बहुत खुश हूं और आप इसके हकदार भी हैं।उन्होंने कहा कि महाराज जल्द ग्वालियर आइए। वहां आपके समर्थक मंत्री आपका बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।

ज्योतिरादित्य सिंधिया को नागरिक उड्डयन मंत्री बनाए जाने के बाद ग्वालियर में उनका कद और भी बढ़ गया है और इससे देखते हुए वहां के नागरिक ज्योतिरादित्य सिंधिया को ढेरों शुभकामनाएं दे रहे हैं।

इमरती देवी वह मंत्री हैं, जिन्होंने सिंधिया के समर्थन में मार्च 2019 में कांग्रेस और विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल हुई थी। भाजपा में शामिल होने के बाद उपचुनाव भी लड़ी लेकिन चुनाव हार गए।

आज भी सिंधिया खेमे के लोग सिंधिया के कहे हर एक बात का समर्थन करते हैं और उनका उसमें साथ देते हैं। इस साथ के वजह से ज्योतिरादित्य सिंधिया आज 15 महीने के बड़े इंतजार के बाद भाजपा में मंत्री मंडल में शामिल हुए और उन्हें एक बड़ा पद मिला जो उन्हें कांग्रेस में रहते हुए नहीं मिल पा रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top