गुजरात के अस्पतालों में हुवा ऑक्सीजन की कमी, युवाओं ने किया कमाल 72 घंटे में तैयार किया……

बनास डेयरी के इंजीनियरों ने किया कमाल 72 घंटे में तैयार किया ऑक्सीज़न संयंत्र ।

देश में चल रहे कोरोना के दयनीय स्तिथि को देखते हुए गुजरात के युवा पीढ़ी ने ऐसा किया कमाल कर दिखाया जो सराहनीय है । बनास डेयरी के इंजीनियरों ने बड़ी ही सूझबूझ दिखाते हुए 72 घंटे के भीतर मेडिकल कॉलेज और जिला अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित कर दिया ।

ये उन्होंने तब किया जब गुजरात के बनासकांठा जिले में ऑक्सीजन की कमी के चलते जब सैकड़ों मरीजों की सांसें सांसत में पड़ गईं। इस ऑक्सीजन प्लांट की मदद से प्रतिदिन 35 से 40 रोगियों के लिए पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन मिल रही है। इस संयंत्र स्थापित करने के अनुभव के बारे में बताते हुए कहा, हम पालनपुर में एक मेडिकल कॉलेज और एक अनुसंधान संस्थान चला रहे हैं। इसके अलावा हमारा ट्रस्ट जिला नागरिक अस्पताल का भी प्रबंधन करता है।

पालनपुर में बनास डेयरी के वरिष्ठ महाप्रबंधक बिपिन पटेल ने बताया कि हर रोज ऑक्सीजन संयंत्र से एक दिन में 70 जंबो ऑक्सीजन सिलेंडर या 680 किलोग्राम उत्पादन हो रहा है, जो 35-40 रोगियों के लिए पर्याप्त है। इस मौजूदा स्थिति को देखते हुए हमारे अध्यक्ष ने पूछा है कि हमने क्या किया है। हम क्या कर सकते हैं।

इससे हमारे सभी देश के इंजीनयर छात्रों के सहयोग से हमारे देश की ऑक्सीज़न आपूर्ति काम हो सकती है । अगर सब लोग मिल के देश के बारे में सोचे तो .

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top