Gaganyaan Mission: ‘बधाई भारत’, गगनयान से जुड़ा ISRO का टेस्ट सफल होने पर एलन मस्क का ट्वीट

musk

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने बुधवार को अपने गगनयान कार्यक्रम से जुड़ा बड़ा टेस्ट सफलतापूर्वक किया. इसके लिए उसे ‘एलन मस्क’ से भी बधाई संदेश मिला. इसरो ने विकास इंजन का तीसरा लंबी अवधि का सफल उष्ण परीक्षण किया था. गगनयान मिशन को लॉन्च करने के लिए इसी इंजन का इस्तेमाल किया जाएगा.

ISRO ने बुधवार को जब इसकी जानकारी देने के लिए ट्वीट किया तो उस पर एलन मस्क (Elon Musk congratulates ISRO)  का कमेंट आया. इसमें लिखा था, ‘बधाई भारत.’

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) इस वक्त गगनयान मिशन की तैयारियों में जुटा है. गगनयान अंतरिक्ष भेजे जाने वाला देश का पहला मानवयुक्त मिशन है. इसे तरल प्रणोदक इंजन विकास (liquid propellant Vikas Engine) की मदद से लॉन्च किया जाएगा.

Congratulations! 🇮🇳

न्यूज एजेंसी पीटीआई की खबर के मुताबिक, इसरो ने अपने बयान में बताया कि यह परीक्षण गगनयान कार्यक्रम के लिए इंजन योग्यता जरूरत के तहत जीएसएलवी एमके 3 यान के एल 110 तरल चरण के लिए किया गया. बताया गया कि यह टेस्ट महेंद्रगिरि, तमिलनाडु के परीक्षण केंद्र में हुआ था. बयान के अनुसार इस दौरान इंजन ने परीक्षण के उद्देश्यों को पूरा किया और परीक्षण की पूरी अवधि के दौरान इंजन मानक अनुमानों के अनुरूप थे.

क्या है गगनयान मिशन?

गगनयान कार्यक्रम का मकसद किसी ‘भारतीय प्रक्षेपण यान’ से इंसान को पृथ्वी की निचली कक्षा में भेजने और उन्हें वापस धरती पर लाने की क्षमता प्रदर्शित करना है. केंद्रीय अंतरिक्ष मंत्री जितेंद्र सिंह ने इस साल फरवरी में कहा था कि पहला मानव रहित मिशन दिसंबर 2021 में तथा दूसरा मानव रहित मिशन 2022-23 में और उसके बाद मानव सहित अंतरिक्ष यान की योजना है.

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2018 को स्वतंत्रता दिवस के संबोधन में “गगनयान मिशन” की घोषणा की थी. गगनयान स्पेस प्रोग्राम के लिए चार भारतीय अंतरिक्ष यात्री रूस में स्पेस फ्लाइट ट्रेनिंग भी लेने गए थे.

दुनिया का ऐसा पहला गगनयान मिशन है जिसमे मानव रहित अंतरिक्ष यान की योजना बनाया जा रहा है हालांकि इसकी संभावना सफल होने की सबसे ज़्यादा हैं जहां एक नहीं दो नहीं पूरे तीन तीन प्लान रेडी हैं इसके लिए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top