चीन ने नाक और मुँह को छोड़ कर, कही और से कोरोना जाँच के लिए ले रहे है सैम्पल, सुनते ही आप हो जाओगे क्रोध से लाल।

new covid test

नए तरीके से चालू किया कोरोना टेस्टिंग का उपाय 

चीन कोरोना के जन्मदाता जो की कोरोना के बढ़ते हालातो को देखते हुए  नए तरीके से टेस्टिंग करना शुरू कर दिया है जिसके सुनने से आपके होश तो उड़ जायेंगे साथ ही आपको बहुत गुस्सा भी आएगा । जी है अब चीन के नेशनल हेल्थ कमीशन की सिफारिश पर ये टेस्ट शुरू किया गया है. कमीशन का दावा है कि गुदा से लिया गया स्वाब नाक या गले से लिए गए सैंपल से बेहतर और सटीक रिजल्ट देता है.

चीन ने कोविड 19 के लिए इस खास तरह के टेस्ट को देखते हुए अमेरिका और जापान के साथ साथ कई देशो ने खिल्लिया उड़ाई और कहा की अशोभनीय टेस्ट को फौरन बंद कर देना चाहिए. इसकी वजह से उनके नागरिकों को दिक्कत हो रही है.

इस प्रकार से होता है यह टेस्ट

सबसे  पहले इस टेस्ट में हम आपको बता दे की सलाइन वॉटर (नमक के पानी) में भिगोई हुई स्वाब को गुदा के भीतर 3-4 सेंटीमीटर तक डाला जाता है. उसे कई बार घुमाया जाता है. इसके बाद स्वाब को निकालकर एक खास कंटेनर में रख दिया जाता है. इस सैंपल को कोरोना वायरस का पता लगाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. चीन का दावा है कि उसने देश में कोरोना संक्रमण को काफी हद तक काबू कर लिया है. इस वक्त पूरे देश में सिर्फ कोरोना के 200 एक्टिव केस ही हैं. जिससे हर किसी को भी गुस्सा आ सकता है लाजमी है

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top