कोरोना के लक्षण दिखने पर भूल कर भी न करे ये गलती

jholachap

वैश्विक महामारी कोरोना अब अपने उच्चतम स्तर पर चल रहा है । यदि इस समय किसी को कोरोना हो जाना संभव है । आज हम आप को एक घटना के बारे में बता रहा हूँ । जो की छत्तीसगढ़ की घटना है ।घटना बिलासपुर के सिरगिट्टी थाना क्षेत्र की है। यहां कोरमी गांव में परिवार के सभी लोगों ने एल्कोहल युक्त होम्यैपैथिक दवा पी थी। इन्होंने होम्योपैथिक दवा ड्रोसेरा 30 पी थी। लेकिन कुछ देर बाद ही सबकी तबीयत बिगड़ने लगी और एक के बाद एक 8 लोगों की जान चली गई।

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में एक ही परिवार के 8 लोगों की मौत हो गई है तो 5 की हालत गंभीर है। बताया जा रहा है कि कोरोना के लक्षण होने पर परिवार ने किसी झोलाछाप डॉक्टर की सलाह पर होम्योपैथिक दवा पी थी। पुलिस मामले की जांच में जुटी है और दूसरे संभावित एंगल से भी जांच कर रही है।

मृतकों में से 4 लोगों का अंतिम संस्कार रात में ही कर दिया गया था, इसलिए मामला संदेहास्पद भी हो गया है। 5 लोगों की हालत गंभीर है और वे अस्पताल में भर्ती हैं। बिलासपुर के सीएमओ ने बताया कि होम्योपैथिक दवा पीने से परिवार के 8 लोगों की मौत हुई तो 5 अस्पताल में भर्ती हैं। उन्होंने आगे कहा कि इन्होंने होम्योपैथिक दवा ड्रोसेरा 30 (Drosera 30) पी थी, जिसमें 91 फीसदी एल्कोहल होता है। झोलाछाप साला  डॉक्टर फरार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top