कोरोना के बाद ब्लैक फंगस ने शुरू की तबाही, यदि आपको दिखते है ये लक्षण तो हो जाये सावधान ।

देश कोरोना के तबाही से परेशान चल ही रहा है कोरोना महामारी के बीच अब ब्लैक फंगस का प्रकोप तेजी से बढ़ता जा रहा है। अब तक 1500 से ज्यादा लोग इसके चपेट में आ चुके हैं। जब की 90 से ज्यादा लोग इससे जान गँवा चुके है । हलाकि देखा जय तो देश में थोड़ा मामले काम आ रहे है । मगर मरने वालो की दर अभी भी वैसे का वैसे ही है । उसी बिच एक और महामारी ने कदम बढ़ाना शुरू कर दिया हैं जिसे हम ब्लैक फंगस के नाम से जान रहे है । आइये जानते है इस रोग का लक्षण क्या है ।

कोरोना पजिटिव रिकवर लोगो के लिए खतरा बना ब्लैक फंगस ।

kovid s t

कोरोना को हराने के 14 से 15 दिन बाद ब्लैक फंगस के मामले देखे जा रहे हैं। हालांकि, कुछ मरीजों में पॉजिटिव होने के दौरान भी यह पाया गया है। यह बीमारी सिर्फ उन्हें होती है जिनके शरीर की प्रतिरोधक क्षमता कम होती है। देश के 11 राज्यों में यह फैल चुका है। आइए जानते हैं किन-किन राज्यों में यह फैल चुका है और इसके लक्षण क्या हैं…

खतरा बना ब्लैक फंगस जाने इसके लक्षण ।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन सिंह ने ट्वीट कर बताया है कि आंखों में लालपन या दर्द, बुखार, खांसी, सिरदर्द, सांस में तकलीफ, साफ-साफ दिखाई नहीं देना, उल्टी में खून आना या मानसिक स्थिति में बदलाव ब्लैक फंगस के लक्षण हो सकते हैं।

अमेरिका के सीडीसी के मुताबिक, म्यूकोरमाइकोसिस या ब्लैक फंगस एक दुर्लभ फंगल इंफेक्शन है। लेकिन ये गंभीर इंफेक्शन है, जो मोल्ड्स या फंगी के एक समूह की वजह से होता है। ये मोल्ड्स पूरे पर्यावरण में जीवित रहते हैं। ये साइनस या फेफड़ों को प्रभावित करता है।

इलाज का एक मात्र उपाय एम्पोटेरेफिन इंजेक्शन 

BLACK

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे (Rajesh Tope) ने बुधवार को ये जानकारी देते हुए बताया कि, ‘अभी तक 500 ब्लैक फंगस के मरीज इलाज के बाद ठीक हो गए हैं. ऐसे मरीजों के लिए एम्पोटेरेफिन इंजेक्शन की जरूरत है. इसलिए राज्य सरकार ने 1.90 लाख इंजेक्शन का आर्डर दिया है. लेकिन हमें अभी तक सप्लाई मिली नहीं है.’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top