एक चायपत्ती बेचने वाले पिता की बेटी बनी बिहार बोर्ड आर्ट्स की टॉपर, जानिए कैसा रहा संघर्ष

bihar board toper

आज के इस सोशलमीडिया के दौर में ऐसा काम करना अपने आप में बहुत ही आशचर्य जनक है। ये कहानी है बिहार की जहाँ एक गरीब परिवार की बेटी ने पुरे बिहार राज्य में आर्ट साइड में टॉप किया है। ये आम लोगो के लिए असम्भव से कम नहीं है उस बेटी के पिता चायपत्ती बेच कर अपना गुजरा करते हैं बिहार बोर्ड 12 की टॉपर बिहार के भागलपुर लोहरी टोला निवासी हैं। जिनके पिता का नाम शंकर गुप्ता है। जो एक कायस्त परिवार से हैं लेकिन बेटी के इस काम से पुरे बिहार में इनका सर गर्व से ऊँचा हो गया है। और इनके साथ पुरे बिहार काभी

इस बार बिहार बोर्ड का रिजल्ट कल यानि 26 मार्च को प्रकाशित किया गया है। जिसमे चायपत्ती बेचने वाले शंकर गुप्ता की बेटी नंदनी ने इस बार बिहार बोर्ड के परीक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त किया है। जिसमे इनका कुल पर्सेंटेज (97.1%) आया है। बहुत ही मेहनत करने के बाद इंसान इस मोकम पर पहुँचता है। और अपने राज्य,गांव,शहर का नाम रोशन करता है इसी तरह बिहार राज्य की एक बेटी ने इस प्रकार कड़ी मेहनत कर के अपना और अपने पुरे परिवार का नाम गर्व से ऊँचा कर दिया है।

उनके बाद कुछ और लोग हैं जिन्होने भी कड़ी मेहनत कर ये साबित किया है की वो भी किसी से कम नहीं है। नंदनी के बाद दूसरे स्थान पर उन्ही की एक दोस्त ने उचित अंक पाकर दूसरा स्थान प्राप्त किया है। इन लोगो ने साथ साथ पढाई किया है और हमेशा एक दूसरे से पढाई के बारे में बातचीत भी किया करते थे। जिसके वजह से दोनों ने इस बार अच्छे अंक से वजय प्राप्त किया है। ऐसा लड़के भी कर सकते हैं लेनिक ज्यादातर देखा जाये तो लड़कियां ही प्रथम स्थान प्राप्त करती हैं कहा जाता है की किताबो से जिस दिन मोहब्बत हो गयी उस कोई इंसान आपको आपके मंजिल पाने से नहीं रोक सकता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top