क्या हुआ था तब जब सदन में भिड़ गए थे अटल और मुलायम सिंह यादव, वाजपेयी बोले- कल से आजतक बोलते रहे, अब मेरी बारी

atal ji

अटल बिहारी वाजपेयी अपनी वाकपटुता के लिए जाने जाते हैं वे अपने इस हुनर से लोगों की बोलती बंद कर देने की काबिलियत रखते हैं। एक बार सदन में समाजवादी पार्टी के नेता मुलायम सिंह यादव और अटल बिहारी वाजपेयी आपस में भिड़ जाने के बयान के बाद सदन में जोरदार हंगामा होने लगा। अटल बिहारी वाजपेयी ने कहा कि ये मेरा मुंह बंद करना चाहते हैं लेकिन ये होने वाला नहीं है।वाजपेयी ने कहा कि कल से आजतक आप लोग बोलते रहे अब मेरी बारी आयी है तो आप लोग मुझे बोलने नहीं दे रहे हैं।

बताते चलें कि एक बार पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी सदन में बोल रहे थे तब मुलायम सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में जो लोग पहले कांग्रेसी थे वहीं लोग आज भाजपाई बन कर सिखों को लखनऊ में लूटा है। इस पर वाजपेयी ने तंज कसते हुए कहा कि मेरे मित्र मुलायम सिंह जी आप इस मुद्दे पर कुछ न ही कहें तो ज्यादा अच्छा होगा। आपके शासन काल में जिस तरह से उत्तरांचल की मांग करने वाली महिलाओं के साथ वर्ताव किया गया। जिसे कोर्ट ने गलत बताया और बलात्कार की भी पुष्टि हुई है। उसके बाद मुलायम सिंह के पास कुछ भी कहने के लिए नैतिकता नहीं है।

वाजपेयी के इस बयान के बाद सदन में जोरदार हंगामा होने लगा। जिसपर अटल बिहारी वाजपेयी ने कहा कि ये सभी मित्र कल से लेकर आजतक बोलते रहे हैं। अब मेरी बारी आयी है तो ये मुझे बोलने नहीं दे रहे हैं।

ये मेरा मुंह बंद करना चाहते हैं लेकिन ये होने वाला नहीं है। अगर संख्याबल के दम पर आप ये करने का प्रयास करेंगे तो हमें सदन के बाहर ये विचारों की लड़ाई ले जानी पड़ेगी।

अयोध्या में मंदिर आंदोलन के बाद देश के कई हिस्सों में हिंसा की घटना हुई थी।

जिसके लिए समाजवादी पार्टी सहित कई दल भारतीय जनता पार्टी को जिम्मेदार बताते रहे थे। वीडियो में भी आप सुन सकते है कि विपक्षी दलों की तरफ से बीजेपी नेता कल्याण सिंह के इस्तीफे की मांग कर रहे थे। संसद में ऐसे कई मौके आएं जब अटल बिहारी वाजपेयी ने अपने शब्दों से विरोधियों को शांत किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top