क्या है उस अंधेरी सुरंग का रहस्य जिसके अंधेरे में समा गई यात्रियों समेत ट्रेन…

anjnan

दुनिया भर में रेल के जाल ने आगमन को और भी आसान कर दिया है जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी बढ़ती जा रही है वैसे-वैसे रेल के स्टेशनों की जगह और भी भयावह होते जा रहे हैं।कहीं पहाड़ों को काटकर सुरंग के अंदर से रेलवे लाइन ले जाया जाता है तो कहीं घने जंगलों के बीच रेलवे लाइन जाती है, कुछ जगहों पर तो कहीं रेलवे लाइन पानी की लहरों को छूते हुए निकलती है ऐसा लगता है उस पानी के बहाव में रेलवे लाइन भी बह जाएगा।

जून 1911 में एक इटालियन रेलवे कंपनी जेनेटी ने फ्री राइडर के लिए 106 यात्रियों को लेकर चली लेकिन सुरंग में पहुंचते ही एकाएक गायब हो गई। उस रेल का क्या हुआ इसकी कहीं कोई जानकारी नहीं मिली कुछ देशों ने इसके टाइम ट्रैवल करने का दावा किया है।

1911 में इटालियन कंपनी जनेटी ने अपने ट्रेन के एक नए मॉडल के लिए एक फ्री राइडर देने का ऐलान किया है इसमें सौ यात्रियों समेत चार रेलवे कर्मी भी थे। ट्रेन में लोगों के लिए खाने पीने का अच्छा बंदोबस्त था और यात्री आराम से गंतव्य तक पहुंचने का इंतजार कर रहे थे। इसी दौरान ट्रेन एक सुरंग में पहुंचते ही गायब हो गया काफी खोजबीन होने के बाद भी ट्रेन का पता नहीं चला।

ट्रेन से 104 लोगों में से 2 यात्री सुरक्षित बाहर आ गए। वे मानसिक तौर पर काफी परेशान थे और काफी बुरी हालत में थे। काफी इलाज और मानसिक इलाज के बाद यात्री आखिरकार सामान्य हो गया। तब उनसे इस घटना के बारे में पूछा गया तो वह इसके विषय में कुछ भी कहने को तैयार नहीं थे। कुछ दिन के बाद दो एक यात्री ने बताया कि उस रोज जैसे ही वह सुरंग में पहुंचे ट्रेन में सफेद रंग का धुआं भरने लगा। वे घबरा गए और चिल्लाने लगे, फिर मैं और मेरे साथी ट्रेन से बाहर कूद गए। इसके बाद क्या हुआ हमें नहीं पता।

उन यात्रियों से बात करने के बाद उस ट्रेन का रहस्य और गहरा गया है। लोगों के मुताबिक ट्रेन को किसी की पारलौकिक ताकत ने जकड़ लिया और भूतकाल में ले गए हैं। बहुत से लोगों का मानना है कि वह ट्रेन मेक्सिको में पहुंच गया क्योंकि उस समय मेक्सिको की एक डॉक्टर ने दावा किया कि वह जिस अस्पताल में काम करती हैं वहां 102 लोगों को भर्ती कराया गया और सारे लोग मानसिक तौर पर बीमार हैं लेकिन इसकी कोई पुख्ता सबूत नहीं मिले हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top