विदुर निति के अनुसार – इन 4 परिस्थितियों में इंसान की उड़ जाती है नींद | जानिये

vnn

हमारे पुराणों में विदुर निति का बड़ा महत्व है, क्युकी महाभारत में विदुर दवारा बताई गयी नीतियों को सही ठहराया गया है। यह भी चाणक्य की तरह नीतियां में काफी निपुण थे। महर्षि विदुर नीतियों के ज्ञाता थे।, महाभारत में कई नीतियों का उल्लेख किया है। उन्होंने यह भी बताया है, की किन 4 स्थति में इंसान की नींद उड़ सकती है। हम आपको आज वही 4 नीतियों को बताने जा रहे है।
1 श्लोक में बताई 4 नीतिया
विदुर नीति के अनुसार उन्होंने एक श्लोक के माध्यम से इन 4 नीतियों का उल्लेख किया है। में 4 ऐसी बातें बताई गई हैं जिससे व्यक्ति की नींद उड़ जाती है।
काम-भावना
विदुर नीति अनुसार के अनुसार यदि किसी इंसान में काम-भावना जग जाए तो उसकी रातो की नींद उड़ जाती है। जब तक उसे तृप्ति नहीं हो जाती है, तब तक उसका मन किसी और काम में नहीं लगता है। ऐसे में इंसान सोने के साथ साथ कोई भी काम ठीक से नहीं कर पाता है।
शत्रुता
विदुर के अनुसार दूसरी निति में उन्होंने शत्रुता को बताया है। अगर व्यक्ति की शत्रुता किसी ऐसे व्यक्ति से हो जाती है, जो उससे ज्यादा बलवान हो और उसका भय उसे हमेशा बना रहता है, तो उसे रात में नींद नहीं आती है। ऐसे में उसकी नींद का उड़ना तय होता है। इस स्थति में व्यक्ति हमेशा ये सोचता रहता है कि मेरी दुश्मनी किसी बलवान से है, और मुझे संकट हो सकता है।
सब-कुछ छीन जाये
यदि किसी इंसान का सबकुछ चला जाए या उसका धन किसी ने छीन लिया हो तो ऐसे व्यक्ति को रातभर नींद नहीं आती है। परेशान रहने के कारण ऐसा व्यक्ति न तो चैन से जी पाता है और न ही चैन से सो पाता है। उसके मन में हमेशा बेचैनी रहती है। उसका यही प्रयास रहेगा की तब तक उसकी छीनी वस्तु प्राप्त नहीं हो जाती है, तब तक उसको नींद नहीं आएगी ।
चोरी करने की आदत

विदुर नीति के अनुसार इंसान को चोरी करने की आदत पड़ जाए तो वह रातो को कभी चैन से नहीं सो पाता है। रात होते ही उसको चोरी करने के खयाल आएंगे और वह थी से सो नहीं पाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top