1 लीटर में 120 किमी तक चलेगी बाइक, इस युवक ने खोजी ऐसी तकनीक पेट्रोल का खर्च हुआ आधा |

r e

पेट्रोल के भाव दिनप्रतिदिन बढ़ रहे है, जिसके कारण आज आम आदमी का बजट बिगड़ता जा रहा है। वर्तमान में यदि एक बाइक की बात करे तो यह 40 से 50 किलोमीटर प्रति लीटर माइलेज देती है, लेकिन एक लड़के ने ऐसी तकनीक की खोज की है, जिसे अब बाइक १२० किमी का एवरेज प्रदान करेगी। जानिए यह तकनीक कोन सी है। युवक ने खोजी ऐसी तकनीक जिससे पेट्रोल का खर्च हुआ आधा, 1 लीटर में 120 किमी  तक चलेगी बाइक
कौन है यह युवक
जिस युवक ने इसकी खोज की है, उनका नाम विवेक कुमार है | यह कौशाम्बी (Kaushambi) के पिपरी पहाड़पुर के रहने वाले है। विवेक कुमार पटेल ने केवल फ्यूल इंजेक्शन सिस्टम में बदलाव कर गाड़ी का माइलेज बढ़ा दिया है, इसके बाद बाइक 2 गए ज्यादा माइलेज प्रदान करेगी। इससे पेट्रोल पर होने वाला खर्च आधा हो जायेगा।
दो दशक से कर रहे थे माइलेज बढ़ाने का काम
विवेक कुमार पटेल एक तकनीशियन है, जिन्होंने इस तकनीक को ‘कार्बोरेटर जेट’ (Carburetor Jet) का नाम दिया है। यह युवक ज्यादा पढ़ा लिखा नहीं है इन्होने 12वीं पास करने के बाद घरों में शटरिंग का काम करने लगे थे। लेकिन इन्हे कुछ नया करने का खयाल आया है। जिसके बाद उन्होंने दो दशक से ज्यादा समय तक इस तकनीक पर काम किया है। इनका उदेश्य था की दो पहिया वाहनों में माइलेज कैसे बढ़ाया जाए? शुरूआत में सफलता नहीं मिली लेकिन कोशिश करते रहने पर उन्होंने इस काम में कामयाबी हासिल की।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा हो चुके हैं सम्मानित
विवेक को साल 2016 में भी माइलेज बढ़ाने में सफलता मिली थी, जिसके बाद उन्हें 23 अक्टूबर 2018 को विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग की ओर से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा इनाम स्वरूप 25 हजार रुपये की राशि प्रदान की गयी थी। इसके बाद से वह इस कार्य में जुट गए। विवेक फ्यूल इंजेक्शन तकनीक पर आधारित ‘कार्बोरेटर जेट’ ईजाद किया है जिसके माध्यम से गाडी का माइलेज बढ़ाया जा सकता है।
विशेषज्ञ से मंजूरी मिलने का है इंतज़ार
इस तकनीक को आखरी रूप दे दिया गया है, अब विवेक कहते हैं कि ऑटोमोबाइल विशेषज्ञ इसे मंजूरी दे देते है तो इस तकनीक का उपयोग बाइक में किया जाने लगेगा। अभी तक वह 500 दोपहिया वाहनों में अपना बनाया कार्बोरेटर जेट फिट कर चुके हैं। उनके इस प्रयोग से अभी तक किसी तरह की कोई समस्या नहीं आयी है।
इस तरह से करता है कार्य
फ्यूल इंजेक्शन तकनीक से इंजन में पेट्रोल जाता है और वाष्पीकृत होकर इंजन को चलाता है। लेकिन इसमें विवेक ने कार्बोरेटर जेट लगाया है, जो उसके निचले हिस्से में दो एमएम का छेद होता है, जिससे इस छेद को बंद कर ऊपर आधे से एक एमएम के दो छेद कर दिये। इससे पेट्रोल की खपत कम हो जाती है और गाड़ी का माइलेज बढ़ जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top